HomeHealth Tips

एलोवेरा जूस घर पर बनाने की आसान विधि

एलोवेरा जूस घर पर बनाने की आसान विधि
Like Tweet Pin it Share Share Email

एलोवेरा जूस बनाने की विधि

एलोवेरा के कई नाम हैं, जैसे संजीवनी बूटी, साइलेंट हीलर, चमत्कारी औषधि, ग्वारपाठा, घृतकुमारी, कुमारी, घी-ग्वार आदि से पुकारा जाता है। जोड़ों के दर्द में एलोवेरा जूस का सेवन सुबह-शाम करें और प्रभावित जोड़ों पर लगाने से विशेष फायदा होता है। ह्रदय रोग होने का मुख्य कारण मोटापा कोलेस्ट्रोल का बढऩा और रक्तवाहिनियों में वसा का जमाव होना है। ऐसी स्थिति में इसका जूस बेहद फायदेमंद है।बालों के लिए भी इसके जूस को सिर में लगाने से बाल मुलायम, घने, काले व बालो का झडऩा बंद होता है। एलोवेरा जेल चेहरे पर लगाने से मुहांसे, झाइयां दूर होती है।

एलोवेरा में शरीर की अंदरूनी सफाई करने और शरीर को रोगाणु रहित रखने के गुण भी मौजूद है। एलोवेरा हमारे शरीर की छोटी बड़ी नस व नाडिय़ों की सफाई करता है उनमें नवीन शक्ति तथा स्फूर्ति भरता है।एलोवेरा औषधि हर उम्र के लोग इस्तेमाल कर सकते है। यह शरीर में जाकर खराब सिस्टम को ठीक करता है। इसका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं होता। शरीर में मौजूद हृदय विकार, जोड़ों के दर्द, मधुमेह, यूरीनरी प्रॉब्लम्स, शरीर में जमा विषैले पदार्थ इत्यादि को नष्ट करने में मददगार है। त्वचा की देखभाल और बालों की मजबूती व बालों की समस्या से निजात पाने के लिए एलोवेरा एक संजीवनी का काम करती है।इसके प्रयोग से बीमारियों से मुक्त रहकर लंबी उम्र तक स्वस्थ और फिट रहा जा सकता है।

आजकल एलोवेरा के उपयोग कर कई प्रकार के सौन्दर्य प्रसाधन व आयुर्वेदिक औषिधयाँ बनाई जाती है। स्त्री अपने आप को स्वस्थ व अपने सौन्दर्य को बनाए रखने के लिए घृतकुमारी के जूस का नित्य सेवन करें। जिससे शरीर में दुर्बलता अपचन, चक्कर आना, पेट के विकार, हाथ-पैर में जलन या झनुझनुाहट होना मानिसक रूप से अस्वस्थ आदि कई लक्षणों का पुर्ण निदान हो सकता है। अतः यह औषिध बहुमुल्य है, इसमें गुणों का भण्डार है। इसका जूस यदि घर पे एलोवेरा का पौधा है तो आप आसानी से इसका जूस निकाल सकते है –

सबसे पहले आप आवशयक्ता अनुसार एलोवेरा की पत्तियां ले और उसे अच्छी तरह पानी से धो ले उसके बाद चाकू से उसके किनारे के कांटे वाले भाग काट कर निकाल दें अब पत्तियों को सुविधानुसार छोटे-छोटे पीस में बांट लें फिर पत्तियों के टुकडे लेकर उसके ऊपर का हरा वाला छिलका निकाल कर अलग कर दें ध्यान रहे ऐसा करते समय पत्तियों के गूदे के ऊपर की पीले रंग की पर्त भी साथ में निकाल दें नहीं तो जूस में कड़वाहट रह जाएगी और आप उसका सेवन नहीं कर सकेंगे

लोवेरा के सफेद भाग को अलग करने के बाद उसे मिक्सी में डालें और दो मिनट के लिए मिक्सी को चला दें इससे एलोवेरा की पत्तियों का जेल जूस में बदल जाएगा अब इसे गिलास में निकालें और इसमें उचित मात्रा में पानी और नमक मिला लें यदि आप चाहें, तो इसमें फलों का जूस भी मिला सकते हैं ओरेज (संतरा ) जूस इसके स्वाद को टेस्टी बना देता है इससे एलोवेरा जूस स्वादिष्ट हो जाएगा और आपको पीने में दिक्कत नहीं होगी आइस क्यूब डालकर भी ले सकते है अगर आप डायट पर हैं तो इस एलो वेरा जूस को रोज पियें-

एलोवेरा जूस के फायदे 

एलोवेरा में 18 धातु, 15 एमिनो एसिड और 12 विटामिन मौजूद होते हैं जो खून की कमी को दूर कर रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढाते हैं।

एलोवेरा के कांटेदार पत्तियों को छीलकर रस निकाला जाता है। 3 से 4 चम्मदच रस सुबह खाली पेट लेने से दिन-भर शरीर में चुस्ती व स्फूर्ति बनी रहती है।

एलोवेरा का जूस पीने से कब्ज की बीमारी से फायदा मिलता है।

एलोवेरा का जूस मेहंदी में मिलाकर बालों में लगाने से बाल चमकदार व स्वस्थ्पय होते हैं।

एलोवेरा का जूस पीने से शरीर में शुगर का स्तर उचित रूप से बना रहता है।

एलोवेरा का जूस बवासीर, डायबिटीज, गर्भाशय के रोग व पेट के विकारों को दूर करता है।

एलोवेरा का जूस पीने से त्वचा की खराबी, मुहांसे, रूखी त्वचा, धूप से झुलसी त्वगचा, झुर्रियां, चेहरे के दाग धब्बों, आखों के काले घेरों को दूर किया जा सकता है।

एलोवेरा का जूस पीने से मच्छर काटने पर फैलने वाले इन्फेक्शन को कम किया जा सकता है।

एलोवेरा का जूस ब्लड को प्यूरीफाई करता है साथ ही हीमोग्लोबिन की कमी को पूरा करता है।

शरीर में वहाईट ब्लड सेल्स की संख्या को बढाता है।

एलोवेरा का जूस त्वचा की नमी को बनाए रखता है जिससे त्वचा स्वस्थ दिखती है। यह स्किन के कोलाजन और लचीलेपन को बढाकर स्किन को जवान और खूबसूरत बनाता है।

एलोवेरा के जूस का नियमित रूप से सेवन करने से त्वचा भीतर से खूबसूरत बनती है और बढती उम्र से त्वचा पर होने वाले कुप्रभाव भी कम होते हैं।

एलोवेरा के जूस का हर रोज सेवन करने से शरीर के जोडों के दर्द को कम किया जा सकता है।

एलोवेरा को सौंदर्य निखार के लिए हर्बल कॉस्मेटिक प्रोडक्ट जैसे एलोवेरा जैल, बॉडी लोशन, हेयर जैल, स्किन जैल, शैंपू, साबुन, फेशियल फोम आदि में प्रयोग किया जा रहा है।

loading...
Loading...