HomeRecipe

रबड़ी (Rabdi) को दें शाही अंदाज़

रबड़ी (Rabdi) को दें शाही अंदाज़
Like Tweet Pin it Share Share Email

रबड़ी/Rabdi 

मेहमाननवाजी यह भारतीयों की परंपरा रही है। कहते है, “अतिथिदेवो भवः।” परिवारजन हो या अतिथि सत्कार, इसमें भोजन की ख़ास भूमिका होती है और इसमें भी सबसे महत्वपूर्ण होता है Dessert याने की भोजनोपरांत परोसी जाने वाली ख़ास मिठाई। यह मेहमान नवाज़ी में चार चाँद लगा देती है। Dessert में पाश्यात्य शैली में Cake, Cookies, Chocolate, Icecream, Biscuits आदि कई तरह की मिष्ठान्न का समावेश होता है। लेकिन अगर हम इसे ख़ास भारतीय अंदाज में पेश करना चाहे जो की अपने हाथों से बनी हो तो हमारे अपनों के लिए मीठी याद जरूर बन सकती है। अपने हाथों से बनी स्वादिष्ट मिठाई आपसी सम्बन्धो में स्नेह रूपी मधुरता को बढ़ाकर स्नेहसम्बंधो में मजबूती प्रदान करेगी। तो आइए जानते है ऐसे ही एक आसान लेकिन स्वादिष्ट मनभावन Indian Dessert याने भारतीय मिठाई के बारें में जिसका नाम है रबड़ी। आज हम यहाँ पर रबड़ी में शक़्क़र / चीनी की जगह Sugar Free Natura का इस्तेमाल करने की विधि बता रहे है जिससे की रबड़ी स्वादिष्ट होने के साथ-साथ सेहत के लिए भी फायदेमंद हो और मधुमेह या मोटापे से पीड़ित लोग भी इसका आनंद ले सके।

रबड़ी (Rabri) एक स्वादिष्ट मिठाई रेसिपी (Sweet Recipe) है, जो ज्यादातर त्यौहारों (Festivals) या विशेष अवसराें पर बनायी जाती है। यह बच्चों और बड़ों सभी को पसंद आती है। कुछ लोग इसे मालपुआ के साथ भी शौक से खाते हैं। आज हम आपके लिए लाए है बेहद आसान रबड़ी रेसिपी (Easy Rabri Recipe), हमें विश्वास है आपको यह अवश्य पसंद आएगी।

आवश्यक सामग्री 

  1. दूध – 5 कप
  2. Sugar Free Natura – आधा कप / स्वादानुसार
  3. काजू और बादाम के बारीक़ कतरन – इच्छानुसार
  4. ईलायची पाउडर – चुटकी भर
रबड़ी बनाने की विधि 
  • सर्वप्रथम रबड़ी बनाने के लिए भारी तले की चौड़ी मुंह वाली कढ़ाई लेकर उसमे दूध गरम करने के लिए रखे। दूध में उबाल आने पर गैस को धीमा करे।
  • कढ़ाई में छोटी प्लेट रखे जिससे दूध तली में ना लगे।
  • दूध पर मलाई की हलकी परत आने पर उसे चमच्च से उठाकर किनारे लगा दीजिये। इसी तरह जमी हुई मलाई को किनारे करते रहे।
  • दूध को धीमे आंच पर उबलने दीजिये नहीं तो किनारे पर रखी हुई मलाई जम जाती हैं।
  • कढ़ाई के किनारे जमी हुई मलाई सूखने पर खुश्क होती रहेंगी। बार-बार यही करना हैं।
  • दूध के चारों ओर मलाई जम जाये और दूध एक तिहाई बचे तब दूध में Sugar Free Natura, काजू-बदाम की कतरन और ईलायची पाउडर मिला दे।
  • Sugar Free Natura दूध में अच्छे से मिक्स होने के बाद गैस बंद कर दे।
  • अब कलछी से किनारे पर जमी हुई सारी मलाई को निकालकर गाढ़े दूध में मिला दे।
  • अब इसे अधिक मिक्स न करे ताकि खरचन की गाढ़े पड़ी रहे।
  • अब इस रबड़ी को बाउल में निकालकर फ्रिज में ठंडा होने के लिए रखे।
  • खाना खाने के बाद इस स्वादिष्ट रबड़ी को अपने मेहमानों को परोसकर आप उनका दिल जीत सकते हैं।
  • आप रबड़ी को फ्रिज में रखकर 3 दिन तक उसका उपयोग कर सकते हैं।
  • रबड़ी खाने का असली स्वाद तब ही आता है जब मलाई की खरचन की गुठले अंदर से फीकी रहे। इसलिए थोड़ी थोड़ी देर से मलाई किनारे निकालते रहना चाहिए।

Dessert में सामान्य चीनी की जगह Sugar Free Natura इस्तेमाल करने के कुछ विशेष लाभ निचे दिए गए हैं :

  1. Sugar Free Natura यह चीनी की तुलना में 600 गुना मीठा होने के कारण अल्प प्रमाण में उपयोग करना पड़ता हैं।
  2. यह Sucralose से बनता है जो सेहत को किसी प्रकार से नुक्सान नहीं पहुँचाता हैं।
  3. मीठा होने के बावजूद इसमें कैलोरीज का प्रमाण चीनी से कम होने के कारण मधुमेह के रोगी भी इसका स्वाद ले सकते हैं।
  4. यह Heat stable होने के कारण इसे पकाने में इस्तेमाल करने से कोई नुक्सान नहीं होता हैं।
  5. अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक, मोटापे से पीड़ित और मधुमेह के रोगी इसे निःसंकोच अपने आहार में शामिल कर सकते हैं।
  6. Sugar Free Natura को विश्व स्वास्थ्य संघटन (WHO), USFDA और FSSAI जैसे नामी संस्थाओं से मान्यता प्राप्त हैं।

इस तरह आप शक्कर / चीनी की जगह Sugar Free Natura  का इस्तेमाल कर घर पर स्वादिष्ट और सेहतमंद dessert बना सकते हैं। मधुमेह के रोगी कोई शंका होने पर डॉक्टर की सलाह लेकर इस स्वादिष्ट व्यंजन का लुफ्त उठा सकते हैं। अगर आपके पास भी कोई अच्छी dessert की रेसिपी है जो की Sugar Free Natura  के साथ बनायीं जा सकती है तो आप हमे इ-मेल केर सकते हैं ईमेल पता hynindia@gmail.com.

loading...
Loading...