HomeJuice & Shakes

शहद की कुछ स्वादिष्ट रेसिपी

शहद की कुछ स्वादिष्ट रेसिपी
Like Tweet Pin it Share Share Email

शहद/honey/shehad के स्वादिष्ट पेय

शहद का इस्तेमाल आप अपने दैनिक जीवन में कई तरीकों से कर सकते हैं। उन्हीं मे से एक है – पेय के रूप में। आइए आपको बताते हैं शहद के कुछ पेय की रेसिपी

शहद की रेसिपी  1

अदरक को कूटकर उसका रस निचोड़ लें। रस को 15 मिनट के लिए एक शीशे के बर्तन में रखें। नीचे जम गए पदार्थ को छोड़ दें और साफ रस को 5-6 दिनों के लिए रेफ्रिजरेटर में रखें।

इस अदरक के रस के दो छोटे चम्मच, दो छोटे चम्मच शहद के साथ मिलाकर हर दिन खाली पेट लें। इससे रक्त शुद्ध होता है। इसे 6 महीने में एक बार 48 दिनों तक लिया जा सकता है।

शहद की रेसिपी  2

ताजा अदरक धोकर छील लें। अदरक को छोटे टुकड़ों में काट लें, उसे एक चौड़े मुंह वाले शीशे की बोतल में शहद में डुबा कर रख दें। बोतल के मुंह को एक पतले, सफेद, सूती कपड़े से ढक दें और 12 दिनों तक धूप में रखें। सुबह-शाम 2-4 टुकड़े खाएं, इससे अपच या बदहजमी की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।

शहद की रेसिपी 3

तीन चौथाई कप पानी में चार छोटे चम्मच अदरक का रस, चार छोटे चम्मच शहद और दो छोटे चम्मच नींबू का रस मिला कर पिएं। इससे जल्दी सर्दी-जुकाम नहीं होता।

रेसिपी  4

तरबूज-अदरक-पुदीना की ठंडी रेसिपी 

यहां शहद और तरबूज के साथ एक ठंडे पेय का नुस्खा दिया गया है, जो गरमियों के दौरान बहुत बड़ा वरदान हो सकता है।

सामग्री:

तरबूज : एक चौथाई

अदरक : एक इंच का टुकड़ा

पुदीना : ¼ कप ताजी पत्तियां

नमक : स्वादानुसार

काली मिर्च पाउडर:  स्वादानुसार

शहद : 3 बड़े चम्मच

विधि:

तरबूज को छील कर उसके बीज निकाल लें और मोटा-मोटा काट लें। उसके टुकड़ों को एक ब्लेंडर में मिलाएं। अदरक को छील कर कूट लें और बर्तन में मिलाएं। पुदीने की पत्तियां, नमक, काली मिर्च पाउडर और शहद मिलाएं।

सभी को एक साथ पीस लें जब तक कि महीन पेस्ट न बन जाए। इसे एक छलनी से छान लें।

इस रस को गिलास में डालकर परोसें।

अनेक रोगों में शहद का प्रयोग –
 1- कुछ बच्चे रात में सोते समय बिस्तर में ही मूत्र (पेशाब) कर देते हैं। यह एक बीमारी होती है। सोने से पहले रात में shehad का सेवन कराते रहने से बच्चों का निद्रावस्था में मूत्र (पेशाब) निकल जाने का रोग दूर हो जाता है
2- एक चम्मच शुद्ध shehad शीतल पानी में मिलाकर पीने से पेट के दर्द को आराम मिलता है-एक चुटकी सौंठ को थोड़े से shehad में मिलाकर चाटने से काफी लाभ होता है। दो तुलसी की पत्तियां पीस लें। फिर इस चटनी को आधे चम्मच शहद के साथ सेवन करें
3- रात्री को सोते समय एक गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच shehad मिलाकर पी लें। इसके इस्तेमाल से सुबह पेट साफ हो जाता है।
4- एक गिलास पानी में एक चम्मच नींबू का रस तथा आधा चम्मच shehad मिलाकर लेना चाहिए। इससे अजीर्ण का रोग नष्ट हो जाता है।या shehad में दो काली मिर्च का चूर्ण मिलाकर चाटना चाहिए या फिर अजवायन थोड़ा सा तथा सौंठ दोनों को पीसकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण को shehad के साथ चाटें। shehad को जरा सा गुनगुने पानी के साथ लेना चाहिए
5- shehad में सौंफ, धनिया तथा जीरा का चूर्ण बनाकर मिला लें और दिन में कई बार चाटें। इससे दस्त में लाभ मिलता है।अनार दाना चूर्ण शहद के साथ चाटने से दस्त बंद हो जाते हैं
6- अजवायन का चूर्ण एक चुटकी को एक चम्मच शहद के साथ लेना चाहिए। दिन में तीन बार यह चूर्ण लेने से पेट के कीड़े मर जाते हैं
7- धनिया तथा जीरा लेकर चूर्ण बना लें और shehad मिलाकर धीरे-धीरे चाटना चाहिए। इससे अम्लपित्त नष्ट होता है
8- सौंफ, धनियां तथा अजवायन इन तीनों को बराबर मात्रा में लेकर पीस लें। फिर इस चूर्ण में से आधा चम्मच चूर्ण को शहद के साथ सुबह, दोपहर और शाम को इसका सेवन करना चाहिए। इससे कब्ज दूर होती है
9- त्रिफला का चूर्ण shehad के साथ सेवन करें। इससे पीलिया का रोग नष्ट हो जाता है। गिलोय का रस 12 ग्राम shehad के साथ दिन में दो बार लें। नीम के पत्तों का रस आधा चम्मच shehad के साथ सुबह-शाम सेवन करना चाहिए
10- सिर पर शुद्ध shehad का लेप करना चाहिए। कुछ ही समय में सिर का दर्द खत्म हो जायेगा। आधा चम्मच shehad और एक चम्मच देशी घी मिलाकर सिर पर लगाना चाहिए। घी तथा shehad के सूखने के बाद दोबारा लेप करना चाहिए। यदि पित्त के कारण सिर में दर्द हो तो दोनों कनपटियों पर शहद लगायें। साथ ही थोड़ा shehad भी चाटना चाहिए

Read More :- शहद / Shahed / Honey के आयुर्वेदिक और औषधीय गुण

loading...
Loading...